Sunday, July 25News That Matters
Shadow

Biography of Abraham Lincoln in Hindi

अब्रहम लिंकन Abraham Lincoln का जन्म 12 फरवरी 1809 मे हुआ था। यह अमेरीका के 16th राष्ट्रपति भी रहे चुके हैं उन्होंने अमेरीका के सबसे बड़े संकट गृहयुद्ध को पार लगाया है।अमेरिका में दास प्रथा के अंत का श्रेय लिंकन को ही जाता है। उनकी मृत्यु 15 अप्रैल 1865 में हुई थी।

अब्रहम लिंकन का जन्म एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था । गरीबी के कारण वह एक वकील, बिजनेस मैन, और कहीं चुनाव हारे है ।लेकिन उन्होंने कभी भी अपनी जिंदगी में हार नहीं मानी। और इसी हौंसले और उम्मीद के साथ एक दिन अमेरीका का राष्ट्रपति (Prrsident) बनकर दिखाया है।

Hard work of abraham lincoln

वह सिर्फ अमेरिका ही नहीं पूरी दुनिया के लिए प्रेरणा देने वाले  इंसान है। जिनके जीवन से लाखो लोग प्रेरित है ।उन्होंने हर बार हर दिन और हर साल बड़ी से बड़ी हार का सामना किया है। वह 1831 मे Abraham Lincoln लिंकन जी ने जो भी काम शुरू किया सभी में असफ़ल रहे हैं। और कुछ समय बाद उनकी पत्नी की भी मौत हो गई थी।जब वह Vice Presidents का चुनाव भी हार गए थे । तब 1836 मे उन्हें एक psychology प्रॉब्लम हो गई थी। 1856 मे अमेरीका के राष्ट्रपति के चुनाव में भी हार का ही सामना करना पड़ा।

कहते हैं ना जब ठान लेते हैं तो कुछ करके ही दिखाते हैं । इसी मेहनत और कठीन परिश्रम के साथ ही वह 1861 मे अमेरीका के राष्ट्रपति बन कर उभरे। उनका जीवन बहुत ही परेशानी और मुश्किल से गुजरा है । लेकिन उन्होंने समस्याओ का डटकर सामना किया है ।और एक दिन सफलता  प्राप्त की है।

Abraham Lincoln quotes

Abraham Lincoln कहते हैं कि मुश्किलें कितनी ही बड़ी क्यों ना हो अगर आपमे हौसला है। तो वह आपके सामने छोटी नजर आती है। वह कहते हैं कि परेशानी मे कभी भी इंसान को घबराना नहीं चाहिए । बल्कि सही समय  के साथ अपने कदम उठाने चाहिए।

जिंदगी में समस्या तो आती रहेगी लेकिन यह आपके हौसले के आगे टिक नहीं पाएगी और संघर्ष करने वाले व्यक्ति की कभी हार नहीं होती है, अब्राहम लिंकन कहते हैं कि अगर आपको अपने मे सफलता पाने का जुनून है तो आप किसी भी हालत में उस काम को पूरा कर सकते हैं.

Abraham Lincoln जी के तीन रोचक किस्से-

किस्सा 1-: मेरे दुश्मन मेरे दोस्त (My enemies my friends)

“जब बहुत ही परेशानियों का सामना करने के बाद अब्राहम लिंकन अमेरिका के राष्ट्रपति बने। तब संघर्ष के दौरान उन्होंने अमेरिका वासियों  के बदलते रूप देखें। राजनीति में जो कुछ होता है। सब कुछ वही उनके साथ भी हुआ। उनके ऊपर भी कीचड़ उछाला गया। उन्हें तरह-तरह से परेशान किया गया।लेकिन उनकी दृढ़ता के आगे विरोध करने वालों ने हमेशा मुंह की खाई। और अंत में अमेरिकी लोग उनके व्यक्तित्व को पहचान ही लिया।”

President बनने के बाद अभिनंदन समारोह में । उनका एक साथी उन्हें मुबारकबाद देते हुए बोला- देश की कमान अपने हाथों में आने के बाद। अब आप अपनी ताकत का उपयोग अपने दुश्मनों को खत्म करने में क्यों नहीं करते? उनसे बदला लेने का यही सबसे अच्छा मौका और क्या होगा?

लिंकन(Abraham Lincoln) बोले– Sir, आपको यह जानकर खुश ही नही बहुत खुशी होंगी कि जैसा तुम कह रहे हो। मैं पहले से ही वैसा कर रहा हूं। मैं अपने दुश्मन को धीरे धीरे खत्म कर रहा हूं।

साथी– अच्छा, ये तो बहुत ही अच्छी बात है मजा आ गया लिंकन साहब। अब उन्हें पता चलेगा।

तभी लिंकन जी बोले- नहीं, नहीं, आप गलत समझ रहे हैं। दरअसल मैं अपने सभी दुश्मनों के साथ प्रेम और दोस्ती वाला व्यवहार करता हूं। वे मेरे इस अच्छे स्वभाव से प्रभावित होकर मेरे दोस्त बनते जा रहे हैं। इस तरह एक दिन वे सभी मेरे दोस्त बन कर मेरे साथ आ जाएंगे। फिर मेरा कोई भी कोई दुश्मन या विरोधी नहीं बचेगा। क्या यह तरीका सबसे ज्यादा बेहतर नहीं?

किस्सा 2-: दो चेहरे (Two Faces)

अब्राहम लिंकन पर एक बार सभा (Assembly) में किसी ने आरोप लगाया कि उनके दो चेहरे हैं। ये सामने कुछ और पीछे कुछ और होते है।ये देश के लिए सही नही हो सकते। इस बात का लिंकन जी ने हस्ते हुए कुछ मजाकिया रूप में जवाब देते हुए कहा ।अगर मेरे पास दो चेहरे होते तो क्या मैं अपने इसी चेहरे को लिए घूमता।

किस्सा 3-: लिंकन का कोट (Lincoln coat)

एक बार अब्राहम लिंकन जी कहीं जा रहे थे। तभी अचानक पीछे से एक आदमी ने बहुत ही तेज गाड़ी चलाते हुए उनको ओवरटेक किया और जाने लगा।अब्राहम लिंकन जी ने उसको आवाज देकर रोका और उससे कहा- क्या आप मेरी कुछ मदद कर सकते हो? उस जाते हुए व्यक्ति ने कहा- बताइए हुजूर क्या काम है?

तब अब्राहम लिंकन ने कहा कि क्या तुम  मेरा कोट (Coat) शहर तक लेकर चल सकते हो ? उस व्यक्ति ने कहा कि क्यों नहीं जी जरूर, बल्कि खुशी से। पर आप शहर पहुंच ने पर मुझसे यह कोट कैसे लेंगे ? लिंकन ने जवाब दिया, बहुत ही आसान है। कोट के अंदर मैं भी तो रहूंगा।

मेरे प्यारे दोस्तों अगर आपको आज का हमारा ये article अच्छा लगा तो आप इस article को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद।

अधिक जानकारी-:

Biography of APJ Abdul Kalam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *