Sunday, July 25News That Matters
Shadow

APJ Abdul Kalam Biography

A.P.J Abdul Kalam- Missile Man Of India

Dr. APJ Abdul Kalam जी का नाम किसने नही सुना। सभी ने सुना होगा जिनका पूरा नाम Avul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam था।और पूरी दुनिया में  Missile Man Of India नाम से जाने जाते हैं ।जिनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु रामेश्वरम में हुआ था ।और 27 जुलाई 2015 को (शिलांग, मेघाले) ।ये इस दुनिया को अलविदा कह कर हमारे बीच से चले गए जो हमेशा हमारे दिल में जिन्दा रहेंगे ।

apj abdul kalam<c/enter>
Image Source – Google Image Search

तभी तो Gulzar  साहब ने कुछ यूं बयां किया अपनी शायरी में -:

 मैं एक गहरा कुंआ हूँ इस जमीन पर, बेशुमार लड़के-लड़कियों के लिए, जो उनकी प्यास बुझाता रहूं।
उसकी बेपनाह रहमत उसी तरह ज़र्रे-ज़र्रे पर बरसती है, जैसे कुआं सबकी प्यास बुझाता है।

 आज इसी महान व्यक्ति के बारे में जानेंगे हम, कुछ लिखने से पहले एक लाइन मुझको याद आ रही है । जो  Dr APJ Abdul Kalam जी ने कही थी कि ” आपको अपने सपने सच होने से पहले सपने देखने होंगे “ .

जिंदगी का सफर- Journey of life

Dr.APJ Abdul Kalamरामेश्वरम शहर के एक  middle class Tamil family में पैदा हुए थे। उनके पिता का नाम  Jainulabdeen था जो नाव चलाते थे और रामेश्वरम में ही एक मस्जिद के इमाम भी थे , और न ही उनके पास कोई इतनी धन_ दौलत थी । लेकिन  इन सब परेशानियों के बाद भी वह एक बहुत बड़े दानी थे जो भी उनके पास होता था सब कुछ दुसरो को खिदमत में लूटा देते थे और माता का नाम Ashiamma था जो की वो भी बहुत ही मददगार थी।

फिर कैसे Dr.APJ Abdul Kalam साहब पीछे रह सकते थे । मां-बाप के गुण , अच्छाइयां और इंसानियत Dr.APJ Abdul Kalam जी के नस नस के बस चुकी थी । तभी तो आगे चल कर उनको आज पूरी दुनिया  मेंमिसाइल मैन ऑफ इंडिया” (Missile Man Of India.) नाम से जाना जाता है। इनके चार भाई और एक बहन थी,

Kalam’s education -शिक्षा

Dr.APJ Abdul Kalam ने मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में भाग लिया, |जहां उन्होंने 1960 में वैमानिकी इंजीनियरिंग में डिग्री प्राप्त की। स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद उन्होंने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) -एक भारतीय सैन्य अनुसंधान संस्थान- और बाद में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में प्रवेश लिया।

अब्दुल कलाम ने कौन सी मिसाइल बनाई थी?

पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर, 1931 को हुआ था। वह एक महान राष्ट्रपति (President) और वैज्ञानिक (Scientist) दोनों थे, जिन्होंने अपने कई तरीकों से विभिन्न क्षेत्रों में देश के विकास में योगदान दिया है। उन्होंने स्वदेशी निर्देशित मिसाइल अग्नि (Agni) और पृथ्वी (Prithvi)के विकास का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया

Dr.APJ Abdul Kalam के अनुसार शिक्षा क्या है?

शिक्षा कभी ख़त्म न होने वाली यात्रा है – ज्ञान और ज्ञान के माध्यम से। वास्तविक शिक्षा मनुष्य की गरिमा को बढ़ाती है और उसके आत्म-सम्मान और उसके सच्चे अर्थों में सार्वभौमिक भाईचारे को बढ़ाती है, ऐसी शिक्षा के लिए चादर लंगर बन जाता है।

Dr.APJ Abdul Kalam से हम क्या सीख सकते हैं?

मेरा संदेश, विशेष रूप से युवा लोगों के लिए अलग तरह से सोचने के लिए साहस, आविष्कार करने के लिए साहस, अस्पष्टीकृत पथ की यात्रा करना, असंभव की खोज करने की हिम्मत और समस्याओं पर विजय प्राप्त करना और सफल होना है। ये महान गुण हैं जिनकी ओर उन्हें काम करना चाहिए। यह युवा लोगों के लिए मेरा संदेश है।

After Retirement

जब  Dr.APJ Abdul Kalam 60 साल के होने जा रहे थे  तब वो चाहते थे की गरीब  के लिए एक स्कूल खोलूं, तब उनके दिल में एक ही बात चल रही थी की जो आज तक मेने अपनी जिंदगी में जो जो काम किया वो सब दुसरो के सामने लाऊं और अपनी जिंदगी का एक एक हिस्सा दूसरे के काम आ सके वो सब कुछ बता सकूं ।

इसलिए  Dr.APJ Abdul Kalam साहब ने बहुत खूब लिखा था” मेरे ख्याल में मेरे वतन के नौजवानों को एक साफ नजरिए और दिशा की जरूरत है। तभी ये इरादा किया कि मैं उन तमाम लोगों का जिक्र करूं जिनकी बदौलत मैं ये बन सका, जो मैं हूं। मक्सद ये नहीं था कि मैं कुछ बड़े-बड़े लोगों के नाम लूं। बल्कि ये बताना था कि कोई शख्स कितना भी छोटा क्यों न हो, उसे हौसला नहीं छोड़ना चाहिए। मसले, मुश्किलें जिंदगी का हिस्सा हैं और तकलीफें कामयाबी की सच्चाईयां हैं।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *