बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

लाल सिंह चड्ढा कौन थे? Laal Singh Chaddha Real Story in Hindi

आज आपको एक ऐसे इन्सान की कहानी बताने जा रहा हूँ, जिस पर बॉलीवुड के अभिनेता आमिर खान की फिल्म भी बन चुकी है।ये फिल्म वास्तिवक कहानी पर आधारित है और इस फिल्म का नाम है Laal Singh Chaddha (लाल सिंह चड्ढा) है। आमिर खान ने इस फिल्म में लाल सिंह चढ्ढा का किरदार निभाते नज़र आयेंगे। 

Aamir khan Lal Singh Chaddha Movie
Image Source: thestatesman.com

Laal Singh Chaddha Biography in Hindi

लालसिंह चड्ढा जो वास्तव मे मानसिक रूप से स्वस्थ नही है और इसी वजह से हर कोई उनका मजाक बनाता था। उनकी मानसिक स्थिति के कारण उन्हे किसी भी स्कूल में एडमिशन नही मिल पा रहा था। लेकिन उनकी माँ ने कैसे भी कर के या किसी भी तरह बड़ी मुश्किल उनका एडमिशन करवाया।

जब लाल सिंह  स्कूल में जाते तो बच्चे उसका मजाक उड़ाते थे, लेकिन लाल सिंह की माँ हमेशा उसका हौसला बढ़ाती थी। और कहती थी कि तुम वह सब करोगे जो दूसरे लोग कर सकते है।

लाल सिंह चड्ढा कौन थे Who was Laal Singh Chaddha in Hindi

अभी हाल ही में lal singh chaddha movie लाल सिंह चड्ढा की मूवी का Trailer Releise  हुआ था। जिसके बाद हर कोई जानना चाहता है कि आखिर ये Laal Singh Chddha Kaun kai? क्या आप सब भी Lal Singh Chaddha Biography को जानना चाहते है, अगर हां, तो आप इस आर्टिकल  को पूरा जरूर पढ़े।

lal singh chadha full movie में पढ़ने से पहले हम Laal Singh Chaddha कौन थे, उनके बारे मे सब कुछ जानेंगे। मैं आप सभी को बता दूं कि लाल सिंह चड्ढा एक बड़ी शख्सियत थे। जिन्हे राष्ट्रपति द्वारा परमवीर चक्र (lal singh chaddha paramveer chakra ) से सम्मानित किया गया है। लाल सिंह चड्ढा जी मानसिक रूप से स्वस्थ नही है, इसलिए लोग उनका मजाक बनाया करते थे।

लाल सिंह चड्ढा बच्चपन से एक लड़की को प्यार करते थे, लेकिन उनकी शादी नही होती है। क्योंकि लड़की पहले ही भाग जाती है, और लड़की को खोजने के लिए चड्ढा जी पूरी दुनिया का चक्कर लगा देते है। Real Laal Singh Chaddha And Movie के बारे पूरी जानकारी इस लेख से प्राप्त करे।

लाल सिंह चड्ढा एथलेटिक्स रेस में

एक बार उनकी स्कूल में एथलेटिक्स की रेस होन वाली थी, और उस रेस में उनका दोस्त गुरूप्रीत भी हिस्सा ले रहा था। इसलिए लाल सिंह चड्ढा जी भी उस रेस में भाग लेना चाहते थे, लेकिन उनकी माँ ने मना कर दिया। इसी वजह से उन्होने रेस में भाग नही लिया।

कुछ दिन बाद रेस फिर से शुरू होती है तो उस रेस में गुरूप्रीत को चोट लग जाती है और वह उसी जगह गिर जाता है। ये देखकर लाल सिंह फ़ोरन उसके पास आते है, और उसे अपने कांधे पर उठाकर रेस में दौड़ लगाते है। और वे रेस भी जीत जाते हैं।

यह देखकर वहाँ बैठे सभी Judges, Teachers और Students चौंक जाते है। इसके बाद लाल सिंह की Performance  के आधार पर उन्हे स्कूल गेम में भाग लेने का मौका भी मिलता है। इस तरह से लाल सिंह अपनी स्कूल की शिक्षा को पूरा कर लेते है।

जैसे ही लाल सिंह स्कूल के बाद वे कॉलेज जाने लगे लेकिन वहां भी उनके मासूमियत का फायदा उठाया जाता था। उनकी मानसिक बीमारी के कारण ही उनके बस दो दोस्त के अलावा कोई और भी नही था। धीरे-धीरे वे अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर लेते है।

लाल सिंह चड्ढा आर्मी में

जिस कॉलेज मे लाल सिंह पढ़ते थे, उस कॉलेज के आखिरी दिनों में एथलेटिक्स प्लेयर्स को आर्मी में जाने का मौका मिलता है, तो लाल सिंह आर्मी ज्वाइन करते है। लेकिन लाल सिंह के करीबी दोस्त गुरुप्रीत अपने पिता की तरह मिठाई का बिज़नेस करना चाहता था । परंतु उनके पिता ने जबरदस्ती गुरप्रीत को आर्मी में भेज दिया।

Lal Singh Chaddha Biography में एक और रॉल लड़की का भी होता है जिसका नाम सिमरन होता है। जिसे लाल सिंह मन ही मन बच्चपन से चाहते थे। जब लाल सिंह आर्मी जाते है, तभी सिमरन भी सिंगर बनने के लिए मुंबई चली जाती है।

आर्मी को ज्वाइन करने के कुछ समय बाद India और Pakistan में जंग होती है, जिसमें लाल सिंह और गुरुप्रीत दोनो होते है। गुरुप्रीत अपने मित्र लाल सिंह से कहता है कि वह आर्मी में नही आना चाहता था, बल्कि वह अपने पिता के साथ मिठाई का बिजनेस करना चाहता था। वह जंग में मरना नही चहता है, ताकि वह अपना सपना पूरा कर सके।

लेकिन जंग के दौरान एक बम ब्लास्ट होता है जिसमें बहुत से सैनिक घायल हो जाते है और कुछ शहीद हो जाते हैं। तब लाल सिंह सभी घायल सैनिकों को बचाकर सुरक्षित जगह ले जाते है। लेकिन बाद में लाल सिंह को पता चलता है कि ब्लास्ट में उसका दोस्त गुरुप्रीत शहीद हो गया है।

लाल सिह चड्ढा को इस बहादुरी के काम के लिए परमवीर चक्र (lal singh chaddha paramveer chakra ) से सम्मानित किया जाता है। इसके अलावा उन्हे कई एथलेटिक्स रेस जीतने पर अवार्ड्स भी मिले थे।

लाल सिंह चड्ढा की मिठाई दुकान

इस जंग के बाद लाल सिंह आर्मी से रिटायर हो गये। इसके बाद लाल सिंह अपने गांव आए और उन्होने अपने दोस्त  का सपना पूरा करने के लिए गांव में मिठाई की दुकान खोली।

कुछ समय गुजर जाने के बाद पंजाब में दंगे शुरू हो गये थे, जिसमें बहुत लोग घायल हुए और कई लोगो के जान माल का भी काफी नुकसान हुआ था। लेकिन इसे बावजूद लाल सिंह की दुकान को कोई नुकसान नही पहुंचा था । इसके बाद जब धीरे-धीरे हालात सही हुए तब लाल सिंह की दुकान बहुत ही अच्छी चलने लगी।

कुछ दिनों बाद लाल सिंह की माँ अचानक बीमार हो जाती है। जब यह बात लाल सिंह को पता चलती है तो वे अपनी दुकान दोस्त गुरुप्रीत के पिता जी को दे आता  है। इसके बाद लाल सिंह अपनी माँ की देखभाल करते है लेकिन उनकी माँ कैंसर के वजह से मर जाती है।

इसी कहानी में सिमरन भी है, जिसे लाल सिंह प्यार करता है। सिमरन जब सिंगर बनने के लिए मुंबई जाती है,तो सिंगर बनने के चक्कर में वह गलत लोगो पर भरोसा कर बैठती है। जिसकी वजह से अब सिमरन चाहकर भी घर नही जा सकती थी।

इसलिए परेशान होकर वह खुदखुशी करनी की कोशिश करती है, लेकिन वह बच जाती है। इस खुदखुसी के प्रयास में उसे कुछ चोट लगती हैं। जैसे ही यह खबर लाल सिंह के पास आती  है तो लाल सिंह सिमरन को अपने घर पर ले जाता है।

लाल सिंह चड्ढा के नाम वर्ड रिकॉर्ड , क्यों ? 

लाल सिंह सिमरन को मन ही मन बहुत चाहता था, लेकिन कभी सिमरन से अपने दिल की बात  नही बता पाए। लेकिन दुसरी तरफ सिमरन भी प्यार करती थी, लेकिन सिमरन कभी बताती नही है। फिर एक दिन सिमरन, लाल सिंह को बिना बताए घर छोड़कर चली जाती है।

इसके बाद लाल सिंह बहुत ही अकेला पड़ जाता है, और वह अपने इस अकेलेपन को दूर करने के लिए सब कुछ छोड़कर, पूरी दुनिया का चक्कर दौड़कर लगाने लगते है। जब उन्होने अपनी दौड़ की शुरूआत की तो लोग बहुत ही मजाक बनाने लगे। लेकिन धीरे धीरे इसके बाद कुछ लोग भी उनकी दौड़ में शामिल हो जाते है।

इस तरह धीरे-धीरे लाल सिंह पूरी दुनिया में फैमश होने लग जाते है और उनका नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड में लिखा जाता है। उनकी न्यूज भी दुनिया में टीवी, न्यूज पेपर और सोशल मीडिया पर फैल जाती है।

जब यह सब सिमरन को पता चलता है, तो लाल सिंह को मुबारकबाद  देती है।

Laal Singh Chaddha का अंत

जैसे ही लाल सिंह को सिमरन का पता चलता है तो वह उसे ढूंढने लग जाता है। और आखिरकार लाल सिंह, सिमरन को ढूंढ ही लेता है, और सिमरन से मिलने जाता है। लेकिन जब वह सिमरन से मिलता है तो उसे पता चलता है कि सिमरन का एक बेटा है।

तब सिमरन उसे बताती है कि वह उसका बच्चा है, यह जानकर लाल सिंह भावुक हो जाता है। लेकिन लाल सिंह के मन में एक सवाल उठता था कि क्या उसका बच्चा भी उसी की ही तरह मानसिक रूप से कमजोर तो नही है? तब सिमरन उसे बताती है उनका बेटा बहुत बुद्धिमान है।

इसके बाद सिमरन एक और अहम बात बताती है कि वह एक बहुत बड़ी बीमारी से जूझ रही है और वह बहुत जल्द मर भी जाएगी। यह जानकर लाल सिंह को काफी ज्यादा दुख होता है।

फिर कुछ दिनों बाद सिमरन की मृत्यु हो जाती है और इसके बाद लाल सिंह अपने बच्चे को लेकर वहां से चला जाता है। अब लाल सिंह चड्ढा अपने बच्चे के साथ ही अपनी जिंदगी बिताते है।

यह थी Laal Singh Chaddha Real Story In Hindi में, जो काफी शिक्षाप्रद भी है।

Real Lal Singh Chaddha And Movie

यह मूवी Laal Singh Chaddha Release Date 11 August  2022 को रिलीज होने वाली है, जिसमें मुख्य किरदार अभिनेता आमिर खान निभा रहे है। इसके अलावा अभिनेत्री करीना कपूर,नेगर खान, मोना सिंह, और नागा चैतन्य शामिल है। कुछ महीने पहले ही इसका ट्रेलर रिलीज हुआ था जिसने इंटरनेट की दुनिया पर तहलका ही मचा दिया।

लाल सिंह चड्ढा मूवी के ट्रेलर ने बहुत कम समय में ही 22 मिलियन से अधिक व्यूज प्राप्त कर लिए । कुछ लोग इस फिल्म Laal Singh Chaddha Budget के बारे में जानना चाहते है तो आप सभी को बता दू कि इस फिल्म को  लगभग 170 या 180 करोड़ के बजट में बनाया गया है। इस फिल्म से काफी उमीद लगाई जा रही है कि आमिर खान की यह नयी मूवी हिट जरूर हो। लेकिन दूसरी तरफ कुछ लोग इस मूवी के बारे में आक्रोश दिखा रहे है। क्योंकि Laal Singh Chaddha Remake Of Forrest Gump Movie, और Forrest Gump एक अमेरिक हॉलिवुड मूवी है।

अधिक जानकारी-:

Bappi Lehri Biography in Hindi
Punjabi Singer Siddhu Moosawala ki goli markar hatya

Hey, I'm Naushad a professional blogger and web developer. I like to gain every type of knowledge that's why i have done many courses in different fields like Computer Science, Business and other Technologies. I love thrills and travelling to new places and hills.

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.