Wednesday, September 22News That Matters
Shadow

Motivational Story for Student in Hindi

Father and Son Story

ये कहानी(Motivational Story) है एक ऐसे लड़के की जो पढाई मे बहुत कमजोर था। दिन भर दोस्तो के साथ Time Pass करना। और पूरी रात-दिन Mobile चलाना इसकी आदत मे शुमार था। घर पर उसकी माँ की तबियत भी ठीक नही रहती थी। उपर से वह बहुत गरीब परिवार से था। उसके घर की हालत भी बहूत बुरी थी। उसके घर पर अगर कोई आ भी जाता था तो घर की हालत देख कर मुह फेर लेता था। दूसरी बात किसी दोस्त या मेहमान को बैठाने तक की जगह नही थी।  

Motivational Quotes and Success Quotes

सफलता की सबसे खास बात है की,
वो मेहनत करने वालों पर फ़िदा हो जाती है I

किसी के काम करने का Action ही ,
आपके अंदर Motivation लाता है I

एक बार उसका दोस्त(True friend) उसको बुलाने आया था और कहने लगा चल कही चलते हैं। वह दोस्त उसके घर पहली बार आया था। वह दोस्त भी उसके घर की हालत को देख कर परेशांन हो गया। फिर उसने पूछ दोस्त क्या तुम यहाँ रहते हो। तो उसने जवाब दिया जी भाई मैं यही रहता हूँ। यही मेरा घर है। 

तभी दूसरे दोस्त ने कहा क्या तु इस हालत मे और इस घर मे रहता है। तो बोला जी भी इसी घर मे और इसी हालत मे रहता हूँ। फिर जवाब देते हुए पूछा आखिर क्या हुआ? थोड़ी देर तक चुप खडा रहा और सोचने लगा फिर बोला बहुत खुब मेरे भाई बहुत खूब। तेरा घर की बहुत बुरी हालत है। तेरी माँ की भी बहुत तबियत खराब रहती है। तेरा बाबा की भी तबियत खराब रहती है थोड़ा बहुत पैसा कमा कर लाते हैं। जिसे घर का खर्च पानी चल सके। 

एक तु है पूरा पूरा दिन Mobile पर लगा रहता है। फिर दोस्तो के साथ घूमता फिरता रहता है। तुझे अपने Career की कोई फिकर नही है। तेरे घर की हालत बहुत बुरी हो चुकी है। एक बात बता तु किसको धोखा दे रहा है। अपनी बीमार माँ को या फिर अपने मजदूर बाप को या फिर खुद अपने आप को। 

फिर उसके दोस्त ने कहा चल तु मेरे साथ चल। उसने पूछा बताओ तो सही कहाँ चलना है। उसका दोस्त उसको वही लेकर चला गया जहाँ उसके बाबा काम कर रहे थे। उसके बाबा एक कंपनी मे मजदूर थे । उनको देख ऐसा लग रहा था। मानो जैसे कोई मजबूर लाचार आदमी बहुत दिन से भूखा हो फिर भी मजदूरी कर रहा हो। उनके सामने उनके घर की मजबूरी दिखती थी। 

उसके बाबा के पास एक और मजदूर बैठा था। जिससे वो अपने घर की परेशानी बता रहे थे। उनसे बता रहे थे की घर पर मेरी बीवी है। जो बहुत दिनों से बीमार है। और मैं मजदुरी  मे जितना भी कमा पाता हूँ। उससे बस मेरे घर की दो रोटी का ही गुजारा होता  है। कुछ भी पैसा नही बच पाता। मेरा एक लड़का है। जो स्कूल मे पढ़ता है। उसकी फीस भी भरनी है। 

बात बताते बताते बाप की आँखो मे आँसू आ जाते हैं। फिर कहने लगते है। मेरी जिंदगी बद से बट्टर हो गयी है। अब तो दिल-ओ-दिमाग बस मर जाने को कहता है। अब मेरी आखिरी उम्मीद मेरा बेटा ही है। जो पढ़ लिख कर हमारी अपनी माँ की और घर की परेशानी दूर करेगा। फिर खुश होकर बाबा अपने पास बेठे मजदूर से कहने लगा । तुम देखना एक दिन बड़ा होकर। मेरा बेटा इससे भी बहुत बड़ी कम्पनी का मालिक बनेगा।  वह दोनो दोस्त दूर खड़े होकर । सब कुछ सुन रहे थे। 

अब उसका दोस्त उससे कहता है। देखा तूने तेरे बाबा कितनी मेहनत करते हैं। घर के लिए, खाने के लिए, तेरी पढाई के लिए। अब तु सोच और समझ। क्या तु रात-दिन Mobile चला कर। या फिर दोस्तो के साथ खाली घूम कर। उनकी उम्मीद पर खरा उतर सकता है। अब तू अपनी हालत को देख की तु कितने मजे मे जीता है। फिर अपने बाबा की हालत को देख वो कितनी बुरी जिंदगी जीते है। सिर्फ तुम्हारे लिए, घर के लिए। 

अब उसका दोस्त और गुस्से मे आ गया और फिर कहने लगा। अब तु ही बात क्या ये दो कौड़ी का मोबाइल Mobile साथ देगा। फिर वो लड़कियाँ जिनके चक्कर मे रात दिन भगा फिरता है। ये लड़कियाँ आज हैं कल नही होंगी। ये क्या जिंदगी मे कोइ भी साथ नही रहता है। बस अपने परिवार के सिवा, इसलिए सोच समझ और कुछ कर। अब सब कुछ तेरे हाथ में है। घर की हालत सुधारनी है, माँबाप को खुशी देनी सब कुछ तु ही कर सकता है। 

ये सब सुनकर उसकी आँखो मे आँसू आ जाते है। दिल भी अंदर से चीख-चीख कर रोता है। फिर दिल से यही आवाज़ आती है कि अब कुछ करना है। ये सब उल्टे सीधे काम को छोड़ देना है। अब अपने माँ बाप की आँखो का तारा बन कर दिखाना है। ये सब दिखाने और बताने का बहुत बहुत शुक्रिया मेरे प्यारे अजीज़ दोस्त। अब तुम देखना आने वाले 4-5 सालों मे। जो मेरे बाबा ने कहा कि मेरा बेटा इससे भी बड़ी कम्पनी का मालिक बनेगा। अब इन आने वाले सालों मे बाबा का ये सपना पूरा कर के दिखाऊँगा। इसे बड़ी कम्पनी का मालिक बन कर दिखाऊँगा। 

Study Motivation

अब दोनो अपने अपने घर चले गए। फिर उसने अपनी किताबें उठाई। फिर रात दिन उसने मेहनत खूब दिल लगा कर पढाई शुरू कर दी। अब उसका पढाई मे इतना दिल लगने लगा था। उसको लगने लगा कि दिन-रात कितने छोटे होते है। पढाई के सिवा उसको अब कुछ नही दिखता था। फिर उसकी मेहनत रंग लाई और परीक्षा मे पूरे राज्य मे प्रथम स्थान लाया। जिसे देख कर सब की आँखे खुली की खुली रह गयी। ये एक आवारा और गरीब का लड़का राज्य मे टॉपर आ गया। 

Motivational story

एक बार जब उसका इंटरव्यू हुआ तो लोगो ने पूछा। बेटा आखिर तुमने ये सब कैसे किया। फिर उस लड़ने ने मासूमियत से कहा। वह औलाद कभी भी कामयाब नही हो सकती है जो माँ बाप का सहारा बन सके। मैंने अपने बाबा को मजदूरी करते हुए देखा था। जिनके बदन पर सही से कपड़े भी नही थे। सब फटे हुए थे। पसीने इतना था की मानो खुद ही डूब रहे हो पसीने मे। ये सब देख कर मेरी आँखें भर आई। फिर मैने तभी सोच लिया था कि इस कम्पनी से भी बड़ी का मालिक बन कर दिखाना है। यही वजह है जो रात दिन पढाई की और टॉपर बना। 

अब हमको सोचना है, क्या ये कहानी हम पर ही तो नही बनी। बिल्कुल सब कुछ वैसा ही था उपर,जो हम पर भी गुजर रही है। क्या पता तुम्हारे बाबा भी ऐसे ही मजदूरी कर के तुमको पढ़ा रहे हों। इसलिए इसको कहानी नही अपनी जिंदगी का पहलू बना लो। बहाना बना कर कुछ नही होता सिर्फ अपने नुकसान के सिवा। अपने हालात को देखो। घर की मजबूरी समझो, खूब खूब मेहनत करो।अपने आने वाले कल को बदल डालो। फिर देखना यही दोस्त हो या लड़कियाँ या आस-पास के पड़ोसी सब ही तुम्हारी तारीफ किया करेंगे। 

अगर आप सभी को मेरी ये कहानी अच्छी लगी हो । तो आप कॉमेंट्स करके के जरूर बताये। और जो लिखने का इछुक हो वो भी हमसे मिल सकता है। 

अधिक जानकारी-:

Biography of APJ Abdul Kalam
Biography of Abraham Lincoln

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *