बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
Shadow

व्यक्तिगत ऋण- सुरक्षित लोन है या असुरक्षित लोन, अंतर बताएं

अक्सर जब भी लोगों को आर्थिक सहायता की आवश्यकता होती हैं, तो वह किसी रिश्तेदार या दोस्त के पास जाते हैं, या फिर लोन के विकल्प को चुनते हैं। यह लोन सुरक्षित भी हो सकता है या फिर असुरक्षित भी। आमतौर पर असुरक्षित लोन पर आपको कम ब्याज दर पर मिल जाता है, क्योंकि इस लोन के एवज में लोनकर्ता को गारंटी के तौर पर अपनी संपत्ति गिरवी रखनी पड़ती है। जिसके चलते संस्थान को पैसा डूबने का जोखिम नही होता है। सुरक्षित लोन में होम लोन, मॉर्गेज लोन, बाइक लोन इत्यादि आते हैं। वहीं दूसरी ओर यदि असुरक्षित लोन की बात करें, तो इसके लिए आपको अधिक ब्याज दर चुकानी पड़ सकती है।

असुरक्षित लोन के तौर पर आपके पास व्यक्तिगत ऋण या बिजनेस लोन के ऑप्शन्स रहते हैं। किन्तु आपके लिए कौन सा लोन लेना अधिक लाभ साबित होगा। इस सवाल का जवाब जानने के लिए आइये जानते हैं सुरक्षित और असुरक्षित ऋण के बीच कुछ अंतर के बारे में। बहुत से मामलों में दोनों लोन एक दूसरे से काफी अलग हैं। इस लेख के माध्यम से इन अंतरों को समझ कर आपअपने लिए फैसला कर पाएंगे कि आपको कौन सा लोन लेना चाहिए।

सुरक्षित लोन क्या होता है?

सुरक्षित लोन एक प्रकार की अग्रिम राशि होती है, जिसे बैंकों एवं वित्तीय संस्थानो द्वारा भारत की आम जनता को दिया जाता है। लेकिन, इसके लिए यह शर्त रहती है कि उधारकर्ता को लोन के एवज में कोई ऐसी संपत्ति गिरवी रखनी होती है जिसका बाजार मूल्य है या जिसे निवेश के रूप में गिरवी रखा जा सकता है। उधार देने वाले संस्थान को समय पर भुगतान करने में विफल रहने पर उधारदाता गिरवी रखी गई संपत्ति की बिक्री कर अपने लोन का भुगतान करता है।

सुरक्षित लोन की एक खासियत यह होती है कि इसके लिए लोनकर्ता को काफी कम ब्याज दर चुकानी पड़ती है। आमतौर पर सुरक्षित तभी लिया जाता है, जब लोनकर्ता को लोन के रूप में एक बड़ी राशि की आवश्यकता हो। अक्सर देखने में आता है कि सुरक्षित लोन घर और बिजनेस को बढ़ाने के लिए अधिकतर लिया जाता है। बहुत से लोग लोन लेते समय सभी खर्चों और मासिक भुगतान राशि पर अच्छे से विचार विमर्श किए बिना ही लोन आवेदन कर देते हैं।

कई बार जरूरत से ज्यादा लोन राशि लेने पर या फिर मासिक ईएमआई आय से अधिक होने पर लोनकर्ता द्वारा लोन चुकौती में चुक हो जाती है। यदि लोनकर्ता एक लंबे समय तक ईएमआई देने में असमर्थ दिखता है तो उधारकर्ता गिरवी रखी गई संपत्ति को उच्च दाम पर बेचने के लिए विवश हो जाता है। संस्थान जब संपत्ति बेच देते हैं तो उस पैसे का उपयोग लोन खाते को बंद करने के लिए करते हैं।

अगर संपत्ति बकाया लोन राशि से अधिक कीमत में बिकी है तो लोन की राशि रख बाकि बचा पैसा लोनकर्ता को लौटा दिया जाता है। लेकिन अगर कुल बकाया राशि को कवर करने के लिए संपत्ति का बाजार मूल्य कम होता है, तो उधारकर्ता को अपनी जेब से शेष राशि का भुगतान करना होता है। अन्यथा यदि आप समझदारी से अपनी लोन राशि और ईएमआई का चयन करते हैं तो सुरक्षित लोन आपके लिए बेहद लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

असुरक्षित ऋण से आप क्या समझते हैं?

एक असुरक्षित ऋण, अपने सुरक्षित लोन के विपरीत, किसी भी प्रकार की गारंटी के बिना मिल जाता है। जिसके चलते अगर कोई उधारकर्ता लोन चुकौती में विफल हो भी जाता है तो लोन देने वाली संस्थाएं लोन खाते को बंद करने के लिए उनकी संपत्ति पर कब्जा नहीं कर सकती हैं। क्रेडिट कार्ड, स्टूडेंट लोन और छोटे व्यक्तिगत ऋण असुरक्षित लोन की सूची में आते हैं। किन्तु इन दिनों, लगभग हर भारतीय वित्तीय संस्थान उन लोगों को इस प्रकार के लोन प्रदान कर रही है जिन्हें धन की तत्काल आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, यदि आपको व्यक्तिगत ऋण की आवश्यकता आन पड़ी है तो उसके आपको कोई गारंटर या संपत्ति नही केवल एक अच्छा क्रेडिट स्कोर और स्थिर आय की आवश्यकता होगी। इसके साथ ही पर्सनल लोन के लिए दस्तावेज भी बहुत कम लगते हैं, जिस वजह आवेदन प्रक्रिया और भी सरल हो जाती है।

एक सुरक्षित और असुरक्षित ऋण के बीच अन्य अंतर क्या हैं?

सुरक्षित और असुरक्षित लोन चुकौती अवधि और अधिकतम  उपलब्ध राशि के मामले में एक दूसरे से पूरी तरह से भिन्न हैं। साथ ही दस्तावेजीकरन की बात की जाए तो सुरक्षित लोन के लिए आपको दस्तावेजों की एक लंबी सूची को पूरा करना पड़ता है, जबकि पर्सनल लोन के लिए दस्तावेज के रूप में आपको केवल केवाईसी और आय प्रमाण पत्रों की आवश्यकता होती है। इसी प्रकार अप्रूवल प्रक्रिया में भी एक बड़ा अंतर है, जहां असुरक्षित लोन की अप्रूवल प्रक्रिया कुछ घंटो में पूरी हो जाती है, वहीं असुरक्षित लोन के लिए आपको कई बार महीनों इंतजार करना पड़ सकता है।

बहरहाल उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे इस लेख के माध्यम से सुरक्षित और असुरक्षित ऋण  के बीच के अंतर को समझ गए होंगे। यदि आपको कभी किफायती ब्याज दर पर तुरंत प्रभाव से आर्थिक सहायता की आवश्यता आन पड़े तो आप व्यक्तिगत ऋण की आवश्यकता पड़े तो आप हीरो फिनकॉर्प की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

Hey, I'm Naushad a professional blogger and web developer. I like to gain every type of knowledge that's why i have done many courses in different fields like business and technology. I love thrills and travelling to new places and hills.

Leave a Reply

Your email address will not be published.